भारतीय नदी दिवस2015 -सारांश “दिल्ली को रेणुका बाॅध से पानी नहीं चाहिए”: कपिल मिश्रा दिल्ली जल मंत्री

भगीरथी पुरस्कार 2015 विजेता (बाॅए से) ऐमूअल थियोफिलिप्स, लोबसंग ग्यात्सो (प्रतिनिधि मोन बचाओ संघ) सच्चिदानंद भारती (दूधातोली लोक विकास संघ) कुॅज बिहारी जी (प्रतिनिधि संभव ट्रस्ट राजस्थान) 

राजधानी दिल्ली, पुणे एवं देश के अनेक भागों में मनाया गया भारतीय नदी दिवस

नदी संरक्षण के सराहनीय प्रयासों के लिए दिया गया भगीरथी प्रयास सम्मान

‘दिल्ली को रेणुका बाॅध, शारदा-यमुना नदी जोड़ एवं किसी अन्य बाहरी स्रोत से पानी नहीं चाहिए’: कपिल मिश्रा  जल मंत्री दिल्ली सरकार 

मंत्री ने यमुना पर बच्चों से की चर्चा

रामास्वामी अय्यर स्मृति व्याख्यान में अनुपम मिश्र ने बताई नदियों को बचाने के लिए नजरिया बदलने की अहमियत

आज, 28 Nov. 2015 को INTACH (Indian National Trust for Art & Cultural Heritage) सभागार दिल्ली में भारतीय नदी दिवस-2015 का सफल आयोजन किया गया। कार्यक्रम में दिल्ली के जल मंत्री श्री कपिल मिश्रा ने दिल्ली में यमुना नदी के पानी को तीन साल के अंदर नहाने योग्य बनाने की अपनी प्रतिबद्धता को दोहराते हुए स्पष्ट किया की दिल्ली को रेणुका बाॅध अथवा शारदा-यमुना नदी जोड़ योजना से पानी की कतई आवश्यकता नहीं है।

India Rivers Day Function LRउपरोक्तः भारतीय नदी दिवस कार्यक्रम में (बाॅए से) मनू भटनागर (INTACH), अनुपम मिश्र (गाॅधी शांति प्रतिष्ठान), कपिल मिश्र (दिल्ली जल मंत्री) और मनोज मिश्र (यमुना जिए अभियान)

देशभर में नदियों पर कार्य करने वाले संगठनों एवं नदी प्रेमियों के द्वारा पिछले दो वर्षो से भारतीय नदी दिवस का आयोजन किया जा रहा है। भारतीय नदी दिवस 2014 के सफल आयोजन की प्ररेणा से आयजकों (INTACH, WWF-INDIA, SANDRP, Toxic Links and Peace Institute) इस अवसर पर यमुनाः- कल, आज और कल (वांछित) विषय पर तीन दिवसीय प्रदर्शनी भी लगाई।  जिसका शुभांरभ दिल्ली जल मंत्री कपिल मिश्रा जी के द्वारा किया गया। यह प्रदर्शनी सभी के लिए आगामी दो दिनों (28-30 नवंबर 2015) तक खुली है।

Anupam Mishraकार्यक्रम में ‘नदी विज्ञान’ विषय पर अपने विचार रखते श्री अनुपम मिश्र 

भारतीय नदी दिवस 2015 के उपलक्ष्य में प्रख्यात पर्यावरणविद् अनुपम मिश्र, गाॅधी शांति प्रतिष्ठान, द्वारा दिवगंत श्री रामा स्वामी अय्यर जी, अध्यक्ष आयोजक समिति, की स्मृति में ’नदी विज्ञान’ विषय पर व्याख्यान प्रस्तूत किया गया। उन्होने कहा कि आज देश में नदियों की सफाई एवं संरक्षण के नाम पर बहुत प्रयास एवं पैसा खर्च किया जा रहा है। परंतु फिर भी नदियाॅ गंदी हो रही हैं, मर रही है। क्योंकि हम यह नहीं समझे कि नदियों को भी बहने एवं जीवित रहने का पूरा अधिकार है। अब समय आ गया है कि हम नदियों के प्रति अपना नजरिया एवं समझ बदलें। यमुना नदी को पैसे नहीं, बहते पानी की जरूरत है। हमें अपने जीवन एवं समाज में नदियों के महत्व एवं योगदान की सराहना करनी चाहिए।

Recepients

भगीरथी पुरस्कार 2015 विजेता (बाॅए से) ऐमूअल थियोफिलिप्स, लोबसंग ग्यात्सो (प्रतिनिधि मोन बचाओ संघ) सच्चिदानंद भारती (दूधातोली लोक विकास संघ) कुॅज बिहारी जी (प्रतिनिधि संभव ट्रस्ट राजस्थान) 

पिछले वर्ष की भाॅति इस वर्ष भी आयोजक समिति द्वारा भगीरथी प्रयास सम्मान दिया गया। पुरस्कृत व्यक्तियों एवं संस्थाओं के नामांकन का चयन पाॅच सदस्यों की निर्णायक समिति के परामर्श में अध्यक्ष श्री अनुपम मिश्र जी द्वारा किया गया । इस वर्ष संस्था श्रेणी में संभव ट्रस्ट राजस्थान को नंदूवाली नदी एवं मोन नदी क्षेत्रीय संघ, अरूणाचल प्रदेश को मोन नदी तवांग जिला के संरक्षण हेतु किये जा रहे प्रयासों के लिए भगीरथी प्रयास सम्मान से पुरस्कृत किया गया। वहीं व्यक्तिगत वर्ग में ऐमूअल थियोफिलिप्स को महाकाली नदी एवं सच्चिदानंद भारती जी को गाड गंगा नदी उत्तराखण्ड के संरक्षण के लिए किए जा रहे प्रयासों हेतू यह पुरस्कार प्रदान किया गया।

भगीरथी प्रयास सम्मान का आंरभ 2014 में देश में नदियों के सरंक्षण हेतू किये जा रहे असाधाण एवं उल्लेखनीय प्रयासों को करने वाले नदी वीरों को सम्मानित करने के लिए किया गया था। जिसका मुख्य उद्देश्य नदियो को बचाने के लिए प्ररेणादायक एवं अनवरत कार्यो को प्रोत्साहन करना है।

School girl asking questionस्कूली छात्र यमुना की दुर्दशा पर अपने प्रश्न रखते हुए 

इस बार के कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण यमुना किनारे एवं दिल्ली के विभिन्न विद्यालयों से आए विद्यार्थी थे जिन्होंने दिल्ली जल मंत्री से यमुना की दुर्दशा एवं सरकार द्वारा यमुना नदी को बचाने के लिए किए जा रहे प्रयासों पर सवाल-जवाब किया। कपिल मिश्रा ने बच्चों एवं प्रतिभागियों के प्रश्नों का जवाब देते हुए कहा कि जब तक लोग नदी से नहीं जुडते तब तक यमुना को बचाना संभव नहीं है। उन्होंने इस कार्य में बच्चों की भूमिका को इंगित किया। जल मंत्री ने भारतीय नदी दिवस के आयजकों को भी धन्यवाद दिया साथ ही इस बात पर चिंता भी जताई की देश में नदियों की बिगडती स्थिति के कारण ऐसा करना पड़ रहा है।

श्री शशि शेखर, सचिव केन्द्रीय जल संसाधन मंत्रालय, स्वास्थ्य कारणों से कार्यक्रम में शामिल नहीं हो पाए। परंतु उन्होंने अपने लिखित संदेश में कार्यक्रम के आयजकों को धन्यवाद दिया और कार्यक्रम की सफलता की शुभकामनाएॅ दी।

Kapil Misraकार्यक्रम में लोगों को संबोधित करते श्री कपिल मिश्र, जल मंत्री दिल्ली सरकार

इस अवसर पर श्री कपिल मिश्रा, मंत्री जल, पर्यटन, कला, संस्कृति एवं गुरूद्वारा चयन, राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र, दिल्ली सरकार ने कहा कि नदियाॅ समाज का दर्पण हैं। अब समय आ गया है। लोेगों का नजरिया बदल रहा है तदनुसार सरकारें बदल रही हैं। अतः यमुना नदी की स्थिति में बदलाव आना निश्चित है। यह कोई आसान काम नहीं है पर हम हर जोखिम उठाने को तैयार है। अब अच्छे एवं समान समझ वाले लोग आग बढ़ रहें हैं और मुझे पूरा विश्वास है हम सबकी सामूहिक शक्ति एवं समझ से यमुना नदी को बचाना संभव हो पाएगा।

कार्यक्रम के अंत में आयोजक समिति ने भविष्य में भी भारतीय नदी दिवस कार्यक्रम को जारी रखने का निश्चय किया एवं सभी नदी एवं पर्यावरण प्रमियों से कार्यक्रम के आयोजन एवं भगीरथी प्रयास सम्मान नामांकन के लिए सुझाव माॅगे।

Also see,

  1. India Rivers Day- 2015, Report  on SANDRP Blog 
  2. Yamuna River Story SANDRP blog on Yamuna River on Occasion of India Rivers Day 2015
  3.  भारतीय नदी दिवस-एक रिपोर्ट on India Water Portal blog

अधिक जानकारी के लिए संपर्क करें।

Suresh Babu (WWF-India); 9818997999; suresh@wwfindia.net 
Himanshu Thakkar (SANDRP); 9968242798; 
ht.sandrp@gmail.com 
Manu Bhatnagar (INTACH); 9810036461; 
manucentaur@hotmail.com
Ravi Agarwal (Toxics Link); 9810037355;
ravig64@gmail.com
Manoj Misra (Yamuna Jiye Abhiyan); 9910153601; 
yamunajiye@gmail.com                                          Jayesh Bhatia (PEACE Institute); jayeshb@nrint.org 

POST SCRIPT: A report about the River walk in Pune on India Rivers Day, from the organisers of the walk can be seen here: http://www.virasatpune.com/commemorating-india-rivers-day/ and photos of the walk can be seen here: https://www.facebook.com/MuthaiRiverWalk/posts/553440611474742.

SANDRP blog on Pune River Walk: https://sandrp.wordpress.com/2015/12/01/muthai-river-walk-exploring-what-was-and-what-can-be/

2 Comments on “भारतीय नदी दिवस2015 -सारांश “दिल्ली को रेणुका बाॅध से पानी नहीं चाहिए”: कपिल मिश्रा दिल्ली जल मंत्री

Leave a Reply

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / Change )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / Change )

Connecting to %s

%d bloggers like this: